प्रदेश में कांग्रेस के 1000 उपाध्यक्ष और 700 महामंत्री, तालमेल में कमी से हो रही दुर्दशा-सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह

प्रदेश में कांग्रेस के 1000 उपाध्यक्ष और 700 महामंत्री, तालमेल में कमी से हो रही दुर्दशा-सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह

भोपाल: मध्य प्रदेश में 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, जिसे देखते हुए कांग्रेस पदाधियारियों की नियुक्तियां कर रही है. इस पर बीजेपी नेता और सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में पार्टी नेताओं के बीच आपसी तालमेल नहीं है. पूरे प्रदेश में 1 हजार के करीब उपाध्यक्ष हैं, जबकि 5 सौ से 7 सौ तक महामंत्री हैं. वहीं, सभी जिलों के गली-गली में 5-5 या 10-10 कार्यवाहक अध्यक्ष बनाए गए हैं. इसलिए दुर्दशा हो रही है और होगी.

गोविंद सिंह ने कहा कि उन्हें कांग्रेस से कोई लेना-देना नहीं है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को खुद जिले के अध्यक्षों का नाम नहीं मालूम होगा. इसके अलावा वे कईयों का चेहरा भी नहीं जानते होंगे. कांग्रेस पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस के पदाधिकारियों की संख्या सीमित होती थी, जिसकी वजह से उनकी इज्जत भी होती थी.

लेकिन अब जिले में इतने ज्यादा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष हो गए हैं कि अधिकारी भी उनसे नाम पूछ लेते हैं कि आप किस नंबर के उपाध्यक्ष हैं. यही वजह है कि इस समय कांग्रेस के पदाधिकारी अधिकारियों से मिलने अपना कार्ड लेकर पहुंचते हैं.