लापता वकील की मिली लाश, प्रियंका बोलीं- UP में क्राइम और कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से आठ दिन पहले लापता हुए वकील की लाश एक मार्बल गोदाम से मिली है. पुलिस ने वकील धर्मेंद्र चौधरी का मार्बल गोदाम से नग्न शव बरामद किया है.

लापता वकील की मिली लाश, प्रियंका बोलीं- UP में क्राइम और कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से आठ दिन पहले लापता हुए वकील की लाश एक मार्बल गोदाम से मिली है. पुलिस ने वकील धर्मेंद्र चौधरी का मार्बल गोदाम से नग्न शव बरामद किया है. शुरुआती जांच में पुलिस ने बताया कि धर्मेंद्र चौधरी की हत्या उसके दोस्त ने पैसे के लेन-देन के चलते की है. वहीं इस मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने राज्य की योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट कर कहा की यूपी में कोरोना और क्राइम दोनों ही आउट ऑफ 
कंट्रोल है.

मामला बुलंदशहर जिले के खुर्जा नगर कोतवाली का है. यहां आठ दिन पहले लापता हुए वकील धर्मेंद्र चौधरी की उसके ही दोस्त ने पैसे के लेन-देन के चलते हत्या कर दी. रिपोर्ट के मुताबिक वकील धर्मेंद्र चौधरी को पहले किडनैप किया गया था, इसके बाद उसकी हत्याकर शव को गोदाम में छिपा दिया गया.

81 लाख का लेन-देन

पुलिस जांच के दौरान पता चला कि धर्मेंद्र चौधरी ने अपने दोस्त को 81 लाख रुपये दे रखे थे. धर्मेंद्र चौधरी जब बार-बार पैसे मांगने लगा तो उसे किडनैप कर लिया गया, इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई.

8 दिन पहले हुई थी किडनैपिंग

पुलिस ने बताया कि धर्मेंद्र चौधरी की किडनैपिंग 8 दिन पहले हुई थी. पुलिस की टीम कई दिनों से उसकी तलाश कर रही थी, जिसके बाद देर रात पुलिस ने मॉर्बल गोदाम में अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी का नग्न शव बरामद कर लिया.

प्रियंका गांधी का वार

37 वर्षीय अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी की मौत पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर करारा हमला बोला है. प्रियंका ने  ट्वीट कर कहा है कि यूपी में जंगल राज फैलता जा रहा है. राज्य में क्राइम और कोरोना दोनों कंट्रोल से बाहर है.

  
प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज फैलता जा रहा है, क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर है. बुलंदशहर में धर्मेन्द्र चौधरी जी का 8 दिन पहले अपहरण हुआ था, कल उनकी लाश मिली. कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर. हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं. पता नहीं सरकार कब तक सोएगी?